Jun 18, 2024
POLITICAL NEWS

गोद लिए गांव को भूले जनप्रतिनिधि, 12 परिवार पार्टी छोड़कर कांग्रेस में हुए शामिल

गोद लिए गांव को भूले जनप्रतिनिधि
12 परिवार पार्टी छोड़कर कांग्रेस में हुए शामिल: प्रधान

 

पहल बनी ऊर्जामंत्री की गृह पंचायत, सांसद आदर्श ग्राम योजना मुहिम को जनता ने दिया झटका: चौ. किरनेश

देशआदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 2019 से 2024 के लिए सांसद आदर्श ग्राम योजना मुहिम को जनता ने झटका दे दिया है। सांसदों ने जिन गांव को गोद लिए थे लेकिन जनता को आज तक नजरअंदाज किया गया।हैं। इससे चिंतित ग्रामीणों ने भाजपा पार्टी को धक्का देकर कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है।हम बात कर रहे प्रदेश ऊर्जामंत्री एवं स्थानीय विधायक सुखराम चौधरी की गृह पंचायत की।

आज रविवार को पांवटा ब्लॉक कांग्रेस के अध्यक्ष अश्वनी शर्मा एवं पूर्व विधायक चौधरी किरनेश जंग की अगुवाई में चल रहे जनसंपर्क अभियान के दौरान मंत्री की पंचायत पुरुवाला से महिला नेहा चौधरी, मीना देवी, बुधराम, बाला देवी, रेखा देवी, राकेश चौधरी, तारो देवी, सुनीता, खाजरा, काकू राम, जसविंदर सिंह और रितेश चौधरी समेत 12 परिवारों ने बीजेपी पार्टी छोड़ कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया।

पूर्व विधायक चौधरी किरनेश जंग ने आदर सत्कार के साथ सभी परिवारों को कांग्रेस पार्टी के पटके पहनाकर पार्टी में शामिल किया। साथ ही पूर्ण विश्वास दिया कि कांग्रेस पार्टी में पूरा मान और सम्मान दिया जाएगा।

क्या कारण रहा भाजपा छोड़ने का

उन्होंने कहा कि “नाम बड़ा- काम चेहतों के” सांसद जी कभी मिले भी नहीं, काम तो पूछो ही नहीं, इससे कही बढ़िया झूँगी-झोपड़ियों वाले के।
वहीं मंत्री जी भी सिर्फ कुछ ही चुनिंदा लोगों का कार्य करते हैं। महंगाई, बेरोजगारी से आम आदमी का जीना मुश्किल हुआ है। रोजगार देने के लिए ऊर्जा मंत्री विफल साबित हुए। अगर किसी को रोजगार दिया है अपने ही किस चुनिंदा लोगों को या अपने ही रिश्तेदारों को दिलाया है।
उनकी कार्यशैली और बीजेपी पार्टी की नीतियों को देखते हुए हम सब लोगों ने कांग्रेस पार्टी में जाने का निर्णय लिया है।

चौधरी किरनेश जंग ने एक बार फिर महंगाई और बेरोजगारी को मुद्दा बनाया।

ऊर्जा मंत्री पांवटा साहिब के होते हुए भी सबसे ज्यादा बिजली के कट गृहक्षेत्र में लग रहे हैं। पांवटा हॉस्पिटल का रेफर हॉस्पिटल बनकर रह गया है। अगर किसी को बुखार भी आ जाए तो उसको नाहन रेफर कर दिया जाता है। ऊर्जा मंत्री पूरी विधानसभा के मंत्री है न कि कुछ ही चुनिंदा लोगों के।
वह सिर्फ और सिर्फ अपने लोगों के कार्य करते हैं जिन गरीब लोगों को इसकी आवश्यकता है उन तक सरकारी सुविधाएं या मदद वह पहुंचाने में नाकाम साबित हुए हैं।
कहीं ना कहीं पांवटा साहिब में भी तीन या चार लोगों को वाहवाही हो रही है बाकी आम जनमानस आज परेशान है।

चौधरी किरनेश जंग ने याद दिलाई गोद लिए गांव योजना

मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में गांव को गोद लेने की योजना बनाई गई थी। कुछ सालों तक अधिकतर सांसदों ने इस पर तेजी दिखाई थी, लेकिन अब हालात यह है कि आधे से अधिक सांसदों ने किसी गांव को गोद ही नहीं लिया है और जो लिए थे वहां विकास के नाम पर लॉलीपॉप ही मिला। लेकिन यह भाजपा सरकार की बड़ी भूल रहेगी। अब जनता जागरूक हो चुकी है। सब याद भी रखती है और समय आने पर बता भी देती है। जिसका उदाहरण आज मंत्री जी के गृह पंचायत व सांसद के गोद लिए गांव से एक दर्जन परिवार ने भाजपा पार्टी को छोड़ कर कांग्रेस पार्टी को पूर्ण समर्थन के साथ सदस्यता ग्रहण की।

आने वाली सरकार कांग्रेस पार्टी की सरकार है जो सभी जातियों धर्मों गरीब मजदूर दलित मध्यवर्ग सभी को साथ लेकर चलती है।
उनके साथ भगानी जॉन कांग्रेस प्रदीप चौहान भाटावाली पंचायत प्रधान राकेश चौधरी पतलियों पंचायत पूर्व प्रधान दाताराम पूर्व बीडीसी मेंबर गुरदीप सिंह मुकेश जीवन सिंह मोनू फिरोज खान आशु राठौर आकाश श्रवण सिंह प्रदीप आदि लोग उपस्थित रहे।