Jun 18, 2024
HIMACHAL

हिमाचल 2025 तक हरित ऊर्जा राज्य के रूप में होगा विकसित: सुखराम चौधरी

हिमाचल 2025 तक हरित ऊर्जा राज्य के रूप में होगा विकसित: सुखराम चौधरी

देश आदेश

पांवटा साहिब की गोयल धर्मशाला में आजादी का अमृत महोत्सव के तहत उज्ज्वल भारत, उज्ज्वल भविष्य, पावर/2047.., विषय पर जिला स्तरीय बिजली महोत्सव समारोह हुआ। इस दौरान विद्युत क्षेत्र में उपलब्धियों को दर्शाती सात लघु फिल्में दिखाई गईं। इसके साथ ही नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से लोगों को उपभोक्ता के अधिकारों के प्रति जागरूक किया गया।

इस मौके पर ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने कहा कि प्रदेश की जल विद्युत उत्पादन क्षमता 25 हजार मेगावाट है, जो देश की कुल जल बिजली क्षमता का लगभग 17 प्रतिशत है। यहां लगभग 11 हजार मेगावाट का दोहन किया है जो देश की अब तक की कुल जल विद्युत का 23.24 प्रतिशत है।

 

उन्होंने कहा कि वर्ष 2025 तक हिमाचल प्रदेश देश के पहले हरित ऊर्जा राज्य के रूप में विकसित होगा। बिजली महोत्सव का मुख्य उद्देश्य केंद्र की विभिन्न योजनाओं को अंतिम छोर व पात्र तक पहुंचाना है।

इस अवसर पर उपायुक्त रामकुमार गौतम ने कहा कि ऊर्जा के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण जरूरी है। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत जिले में पानी के संरक्षण के लिए 75 अमृत सरोवर जिले में तैयार हो रहे हैं। नोडल अधिकारी दर्शन सिंह ने कार्यक्रम में मुख्यातिथि और अन्य लोगों का स्वागत किया और विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ओमापति जमवाल, एसडीएम विवेक महाजन, डीएसपी बीर बहादुर, तहसीलदार वेद प्रकाश अग्निहोत्री, ओएसडी ऊर्जा मंत्री शेखरानंद उप्रेती सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं भाजपा से जुड़े लोग मौजूद रहे।