Jun 18, 2024
HIMACHAL

जून में महिलाओं को एकमुश्त देंगे 3,000 रुपये: सीएम

जून में महिलाओं को एकमुश्त देंगे 3,000 रुपये: सीएम

सीएम ने कहा कि सरकार ने अपनी चुनावी गारंटी को पूरा करते हुए 1.36 लाख कर्मचारियों को पुरानी पेंशन दी है। महिलाओं के साथ किए वादे को पूरा कर 1,500 रुपये प्रति माह पेंशन देने की योजना भी लागू कर दी है।

 

 

कहा कि जयराम ठाकुर और उनकी टीम इस योजना को रुकवाने में लगी है। इस योजना की लाभार्थी महिलाओं की देय किस्त को रुकवाने के लिए भाजपा दिल्ली से चुनाव आयोग पर दबाव डाल रही है।

 

 

 

भाजपा जितनी भी कोशिश कर ले, लेकिन जून में लाभार्थी महिलाओं को पेंशन के 3,000 रुपये एकमुश्त दिए जाएंगे।

 

 

 

सीएम ने विपक्षी पार्टी के प्रत्याशी पर भी तंज कसा, कहा कि वे तो कोऑपरेटिव सोसायटी के चेयरमैन रहे हैं। लोगों का कहना है कि वे लोगों से नहीं मिलते थे।

 

 

 

कांग्रेस ने हिमाचल की आवाज संसद में उठाने वाला प्रत्याशी जनता के बीच पहुंचाया है। चुराह पहुंचने पर हिमाचल कांग्रेस कमेटी प्रदेश सचिव दिलदार अली बट्ट, कांग्रेस पूर्व प्रत्याशी चुराह यशवंत सिंह खन्ना, पूर्व जिला परिषद सदस्य ललित ठाकुर ने उनका स्वागत किया।

Jairam Thakur: ‘कंगना के लिए अपमानजनक शब्दों का प्रयोग कर, धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचा रहे कांग्रेस’

Jairam Thakur Target Vikramaditya Singh In Mandi
देशआदेश मीडिया चैनल फॉलो करें

पूर्व सीएम व नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने मंडी में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी विक्रमादित्य सिंह के उस बयान पर पलटवार किया है, जिसमें विक्रमादित्य सिंह ने कंगना के जाने के बाद देवभूमि के मंदिरों की सफाई करने की बात कही है।

 

 

नेता प्रतिपक्ष का कहना है कि विक्रमादित्य सिंह ने ऐसा कहकर भाजपा प्रत्याशी कंगना के लिए बहुत ही  अपमानजनक  शब्दों का प्रयोग किया है। चुनाव के दौर किसी महिला के ऊपर इस तरह की टिप्पणी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन के साथ धार्मिक आस्था को भी ठेस पहुंचाता है। इस तरह की बातें कर विक्रमादित्य सिंह धार्मिक भावनाओं को भड़काने की भी काम कर रहे हैं।

 

जयराम ठाकुर ने चुनाव आयोग से कंगना के उपर की गई इस व्यक्तिगत टिप्पणी पर विक्रमादित्य सिंह के खिलाफ कार्यकाई की मांग उठाई है।

वहीं, इस मौके पर जयराम ने स्पीति के काजा में उनके व भाजपा प्रत्याशी कंगना रनौत के साथ पेश आई घटना को कंाग्रेस पार्टी की साजिश करार दिया।

उन्होंने संबधित अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े किए। नेता प्रतिपक्ष का कहा कि इस घटना भी भनक भाजपा को पहले से थी। चुनावों में अधिकारियों की लापरवाही से देवभूमि में पहली बार इस तरह की घटना सामने आई है। भागकर उन्हें अपनी जान बचानी पड़ी और अभी तक इस घटना की शिकायत तक दर्ज तक नहीं की गई है। उन्होंने इस घटना की वीडियो फुटेज के साथ उनके साथ हुए बर्ताव की शिकायत चुनाव आयोग को भी भेज दी है।

उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री द्वारा कंगना को आफत की पुड़िया कहने पर भी जयराम ठाकुर ने अपनी प्रतिक्रिया दी। जयराम ने कांग्रेस नेताओं पर बरसते हुए कहा कि वे भी उनपर पर व्यक्तिगत टिप्पणी कर सकते हैं।

सीएम रहते हुए कांग्रेस के सभी नेताओं के राज उनके दिल में दफन है और अगर उन्हें खोल दिया तो इन नेताओं के लिए बहुत मुश्किल हो जाएगा। अभी तक उन्होंने संयम रखा है, अगर कांग्रेसी ज्यादा बोलेंगे तो उनके राज जरूर खुलेंगे।