Jun 18, 2024
EDUCATION

फैसले की हो रही सराहना: प्रदेश का पहल सीनियर सेकेंडरी स्कूल जहां ड्रेस कोड में दिखेंगे शिक्षक

फैसले की हो रही सराहना: प्रदेश का पहल सीनियर सेकेंडरी स्कूल जहां ड्रेस कोड में दिखेंगे शिक्षक

न्यूज देशआदेश, बिलासपुर

सार
महिला शिक्षकों के लिए गुलाबी रंग का सूट और पुरुष शिक्षकों के लिए सफेद कमीज और ग्रे रंग की पेंट ड्रेस कोड में रखी गई है। सोमवार को शिक्षक ड्रेस में स्कूल पहुंचे तो वे काफी खुश दिखे।

विस्तार
जिला बिलासपुर की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जामली हिमाचल प्रदेश की ऐसी पहली पाठशाला बन गई है, जहां विद्यार्थियों के साथ शिक्षक भी ड्रेस कोड में नजर आएंगे। स्कूल प्रधानाचार्य राकेश मनकोटिया की इस पहल की हर जगह चर्चा हो रही है। उनके इस फैसले को जमकर सराहना मिल रही है। जामली स्कूल को आदर्श विद्यालय के रूप में विकसित किया जा रहा है। स्कूल में करीब 110 बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। शिक्षकों को ड्रेस कोड में देखकर विद्यार्थी भी उनसे प्रेरणा लेंगे। प्रधानाचार्य राकेश मनकोटिया ने कहा कि इस नई पहल के लिए सभी के सहयोग की आवश्यकता होती है।
विज्ञापन

किसी एक विचार पर सबकी सहमति बनना मुश्किल होता है। शिक्षकों ने भी ड्रेस के लिए सहमति जताई है। सोमवार और वीरवार को शिक्षक एक जैसी ड्रेस में दिखेंगे। महिला शिक्षकों के लिए गुलाबी रंग का सूट और पुरुष शिक्षकों के लिए सफेद कमीज और ग्रे रंग की पेंट ड्रेस कोड में रखी गई है। सोमवार को शिक्षक ड्रेस में स्कूल पहुंचे तो वे काफी खुश दिखे। शिक्षकों ने एक और ड्रेस लगाने का सुझाव दिया है। बताया कि जब से वे इस स्कूल में सेवाएं दे रहे हैं, तब से शिक्षकों और स्थानीय लोगों का पूरा सहयोग मिल रहा है।

कमरों के निर्माण के लिए शिक्षिका ने दिए एक लाख

प्रिंसिपल ने बताया कि स्कूल में कमरों की कमी से कुछ कक्षाएं बाहर बैठानी पड़ती थीं, लेकिन कमरों के निर्माण के लिए स्कूल की एक शिक्षिका ने एक लाख रुपये दान में दिए। स्थानीय लोग भी इसमें पीछे नहीं हैं, एक दानी सज्जन ने स्कूल के लिए 50 हजार रुपये दान किए हैं। स्कूल प्रबंधन समिति के साथ भी समस्याओं पर चर्चा होती है। इनका तुरंत निपटारा किया जाता है। उच्च शिक्षा उपनिदेशक राजकुमार शर्मा ने बताया कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जामली ने शिक्षकों को ड्रेस लगाकर एक नई पहल है। वर्तमान में यह स्कूल प्रदेश का पहला ऐसा स्कूल होगा, जहां शिक्षक स्कूल में ड्रेस में दिखेंगे