Jun 18, 2024
Uncategorized

शोक:नहीं रहे निर्माण अखाड़े के महंत श्री जसराम नाथ बाबा

नहीं रहे निर्माण अखाड़े के महंत श्री जसराम नाथ बाबा

श्यामपुर स्थित शिव मंदिर प्रांगण में ली समाधि, बैंड बाजे के साथ हजारों भक्तों ने दी अश्रुपूरित अंतिम विदाई।

न्यूज़ देश आदेश पांवटा साहिब

श्रीश्री 1008 महंत जसराम नाथ का मंगलवार रात 12 बजे के लगभग को निधन हो गया। क्षेत्र में मातम छाया रहा। बताया जा रहा कि वे पिछले काफी दिनों से हृदय रोग से पीड़ित चल रहे थे। उनका उत्तराखंड के हिमालयन अस्पताल में इलाज भी चल रहा था। मंगलवार 7 फरवरी को बाबा जी पंचतत्व में विलीन हो गए। भक्तों ने अश्रुपूरित अंतिम विदाई दी।


दो दिन पहले गांव श्यामपुर के कई लोगों से मुलाकात भी कर आये थे। मंगलवार रात 12 बजे के करीब उन्होंने अंतिम सांस ली। उनका निधन होने पर गिरिपार श्यामपुर, भगानी, गुरूवाला, सालवाला, गोरखुवाला, गोजर, माजरी, फूलपुर शमशेरगढ़ आदि दून क्षेत्र तथा आस पास राज्य हरियाणा, उत्तराखंड, दिल्ली, उत्तर प्रदेश अनुयायी एवं भक्तों की भारी भीड़ देखने को मिली।

मंदिर कमेटी एवं भक्त रामपाल नंबरदार, रोशन लाल चौधरी, कृष्णा रॉय, विपिन कुमार, दलीप सिंह, राकेश गुप्ता, अच्छर सिंह, संदीप कुमार, विपिन अग्रवाल, सुरेन्द्र सिंह, राजेश आदि ने बताया कि श्यामपुर क्षेत्रसे करीब दो हजार लोगों ने मौके पर पहुंचकर शिव मंदिर श्यामपुर के मंदिर प्रांगण में बैंड बाजे के साथ महंत जसराम नाथ को समाधि दी।

इस दौरान लोगों ने बाबा के नाम पर दान दिया। उल्लेखनीय है कि श्रीश्री 1008 महंत बाबा जसराम नाथ ने हरियाणा के निर्माण अखाड़े से दो दशक से श्यामपुर मंदिर में रहते थे। तब से आजतक मंदिर का जीर्णोद्धार चला हुआ था।