Jun 17, 2024
POLITICAL NEWS

सर्वे की रिपोर्ट पर मिलेगा टिकट, समर्थक या करीबी होने पर नहीं

Himachal Congress: प्रतिभा सिंह बोलीं- पार्टी के सर्वे की रिपोर्ट पर मिलेगा टिकट, समर्थक या करीबी होने पर नहीं

न्यूज देशआदेश

सार
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद प्रतिभा सिंह ने कहा कि अग्निपथ योजना के तहत की जा रहीं भर्तियों से देश में बेरोजगारी का आंकड़ा और बढ़ेगा। पार्टी सर्वे करवा रही है। सर्वे रिपोर्ट के आधार पर टिकट आवंटन किया जाएगा।

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद प्रतिभा सिंह ने कहा कि अग्निपथ योजना के तहत की जा रहीं भर्तियों से देश में बेरोजगारी का आंकड़ा और बढ़ेगा। पार्टी सर्वे करवा रही है। सर्वे रिपोर्ट के आधार पर टिकट आवंटन किया जाएगा। सक्षम और सर्वे में अव्वल रहने वाले को उम्मीदवार बनाया जाएगा। इसमें यह नहीं देखा जाएगा कि वह मेरा करीबी है या मेरा समर्थक है या किसी और का समर्थक है।

कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि गुड़िया मामले को इतना तूल दिया जा रहा है। आंकड़े बयां करते हैं कि भाजपा सरकार के समय बच्चियों के साथ दुष्कर्म के मामले हुए हैं। प्रदेश सरकार न्याय दिलाने में असफल रही है। भाजपा सरकार ने इसके लिए किसी भी प्रकार की गाइडलाइन नहीं बनाई है। न ही महिला सुरक्षा के लिए कोई बड़े कदम उठाए हैं। महिला सुरक्षा उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है। इसके लिए प्राथमिकता के तौर पर गाइडलाइन तैयार की जाएंगी। कांग्रेस ने सदैव विकास के नाम पर चुनाव लड़ा है।

वीरभद्र सिंह ने प्रदेश में एक समान विकास किया है और वह सब जनता के सामने है।

 

आज भी बाहर घूम रहे गुड़िया के असली हत्यारे: प्रतिभा
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने कहा कि गुड़िया के असली हत्यारे अभी भी बाहर घूम रहे हैं। कांग्रेस सत्ता में आती है तो गुड़िया के परिवार से बात करेंगे। वह मामले की दोबारा जांच करवाना चाहते हैं तो कांग्रेस इस मामले की जांच शुरू करेगी।

पालमपुर में पत्रकारों के सवालों के जवाब में प्रतिभा ने कहा कि गुड़िया मामले में उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है। उन्होंने कहा था कि छोटी सी गुड़िया के साथ यह घटना हुई है, जबकि उनकी बात को छोटी सी बात कहकर हो हल्ला मचाया गया। कांग्रेस के मुद्दे को भटकाने का प्रयास किया जा रहा है। लोकसभा चुनाव में भी कारगिल पर उनके बयान को गलत दर्शाया गया था।

घटना का पता चलते ही सबसे पहले वह ही गुड़िया के घर गई थीं। पूर्व मुख्यमंत्री ने ही इसकी जांच सीबीआई को सौंपी थी। उसके बाद भाजपा सरकार ने न जांच करवाई और न ही इसकी सीबीआई जांच का कुछ पता चला।

कांग्रेस संगठनों पर नियुक्तियां पर उठ रहे सवालों पर कहा कि संगठन में काम करने वाले लोगों को ही विभिन्न संगठनों में जिम्मेदारी सौंपी है।