Jun 18, 2024
LOCAL NEWS

उद्घाटन होते ही विवाद: सड़क का निरीक्षण करने नहीं गए सांसद, गुस्साए ग्रामीणों ने वापस भेज दी बस

उद्घाटन होते ही विवाद: सड़क का निरीक्षण करने नहीं गए सांसद, गुस्साए ग्रामीणों ने वापस भेज दी बस

न्यूज़ देशआदेश

सार
उद्घाटन समारोह में मौजूद लोगों ने सांसद को सड़क की खस्ताहालत को देखने के लिए मौके पर चलने का आग्रह किया था, लेकिन समय की कमी के कारण वह निरीक्षण करने के लिए नहीं जा सके। इससे ग्रामीण गुस्सा हो गए और नारेबाजी शुरू कर दी। सरकारी बस को भी रोक दिया।

विस्तार
सिरमौर जिले में 8.15 करोड़ से बनी बोरली-सियूं सड़क के उद्घाटन के दौरान उस समय बवाल हो गया, जब ग्रामीणों ने इस मार्ग पर सरकारी बस को रोक दिया। काफी विरोध के बाद बस को वापस भेजना पड़ा। सड़क का उद्घाटन करने पहुंचे सांसद सुरेश कश्यप के सामने ग्रामीणों ने सरकार और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उद्घाटन समारोह में मौजूद लोगों ने सांसद को सड़क की खस्ताहालत को देखने के लिए मौके पर चलने का आग्रह किया था, लेकिन समय की कमी के कारण वह निरीक्षण करने के लिए नहीं जा सके।
विज्ञापन

 

इससे ग्रामीण गुस्सा हो गए और नारेबाजी शुरू कर दी। सरकारी बस को भी रोक दिया। ग्रामीणों ने कहा कि लोक निर्माण विभाग ने सड़क की दशा सुधारे बिना ही सांसद से इसका उद्घाटन करा दिया। समारोह में आए तपेंद्र राणा, सुरेंद्र कमल रघुवीर सिंह, नागेंद्र, कमल रामस्वरूप और सुखदेव शर्मा ने कहा कि सड़क निर्माण में भारी अनियमितताएं बरती गई हैं। कच्ची मिट्टी पर ही डंगे लगा दिए गए हैं। आठ किलोमीटर तक सड़क पर निकासी नालियां नहीं बनाई गई हैं। पैरापिट उन स्थानों पर लगाए गए हैं, जहां सड़क पहले से ही चौड़ी है। पक्का किया गया मार्ग अधिक जगह से उखड़ चुका है। उन्होंने कहा कि यदि विभाग ने इसकी दशा न सुधारी तो लोगों को आंदोलन करना पड़ेगा।

उद्घाटन के बाद संगड़ाह में आंबेडकर जयंती समारोह में सांसद सुरेश कश्यप ने लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता को इस मार्ग को शीघ्र दुरुस्त करने के आदेश दिए और एक माह के भीतर इस मार्ग पर बस चलाए जाने के निर्देश दिए।

उधर, रेणुका के विधायक विनय कुमार ने कहा कि उनके विधानसभा क्षेत्र में बोरली से सियूं के लिए बनी आधी अधूरी सड़क का सांसद सुरेश कश्यप ने वीरवार को उद्घाटन किया है। सड़क की अभी तक टारिंग भी पूरी नहीं हुई है। न ही निकासी की व्यवस्था है। सड़क पर बनाए गए कई डंगे गिर गए हैं।