Jun 25, 2024
HIMACHAL

चूड़धार में 60 वर्षों बाद मई में बर्फबारी, प्रदेश के कई भागों में ओलावृष्टि और अंधड़ का अलर्ट

Weather Himachal: चूड़धार में 60 वर्षों बाद मई में बर्फबारी, प्रदेश के कई भागों में ओलावृष्टि और अंधड़ का अलर्ट

न्यूज़ देशआदेश

 

हिमाचल प्रदेश में ऑरेंज अलर्ट के बीच रविवार देर रात को अंधड़ ने कई जगह भारी तबाही मचाई है। उधर, प्रसिद्ध धार्मिक स्थल चूड़धार में 60 वर्ष बाद मई में बर्फबारी दर्ज की गई। पिछली बार मई 1962 में बर्फबारी हुई थी। क्षेत्र में आठ सेंटीमीटर बर्फबारी हुई। 1962 के बाद मई माह में पहली बार चूड़धार में हिमपात हुआ। इस अद्भुत नजारे को देख यहां पहुंचे 500 से अधिक श्रद्धालु भी इसके गवाह बने। ताजा हिमपात के बाद चूड़धार का तापमान दो डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। इस वजह से समूचे सिरमौर में लोगों को भारी गर्मी से निजात मिली है।

60 वर्षों बाद मई में पहली बार बर्फबारी
चूडे़श्वर समिति के पूर्व अध्यक्ष नौहराधार निवासी 85 वर्षीय तुलसी राम चौहान ने बताया कि आज से ठीक 60 वर्ष पहले 1962 में चूड़धार में मई माह के आखिरी सप्ताह में बर्फबारी हुई थी। उन्होंने बताया कि उस समय उनकी उम्र करीब 25 वर्ष थी। उन्होंने बताया कि अमूमन चूड़धार में अक्तूबर से लेकर अप्रैल तक बर्फबारी होती है। मई महीने में वहां पर बर्फबारी होना अद्भुत व आश्चर्यचकित करने वाली ऐतिहासिक घटना है।

चूड़धार में बर्फबारी।

2 of 5

पांच घंटे तक चूड़धार चोटी पर भटकते रहे बड़ूसाहिब अकादमी के 19 विद्यार्थी
वहीं ,प्रशासन और चूड़ेश्वर सेवा समिति के निर्देशों की अनदेखी करना चूड़धार यात्रा पर जाने वाले यात्रियों को भारी पड़ रहा है। बड़ूसाहिब अकादमी के 70 विद्यार्थियों का एक दल रविवार अपराह्न तीन बजे चूड़धार के लिए रवाना हुआ। इनमें 19 छात्रों का दल अलग होकर शाम करीब 6 बजे तीसरी नामक स्थान पर भटक गया। अंधड़ और हिमपात के बीच छात्रों का ये दल पांच घंटे तक चूड़धार के जंगल में भटकता रहा। दल के साथ आए शिक्षक ने इसकी सूचना चूडे़श्वर सेवा समिति के पदाधिकारियों को दी। होमगार्ड और सेवा समिति के बचाव दल ने रात करीब 11:00 बजे छात्रों को शिवलिंग चोटी के समीप ढूंढ निकाला। उन्हें समिति की सराय में लाया गया और वहां आग जलाकर उन्हें ठंड से निजात दिलाई।
मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने मंगलवार को भी कई जिलों में बारिश, ओलावृष्टि और अंधड़ की चेतावनी जारी की है। 27 मई तक पूरे प्रदेश में मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान है। सोमवार को प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम साफ बना रहा। सोमवार को लाहौल की ऊंची चोटियों पर ताजा बर्फबारी हुई। रोहतांग दर्रा, बारालाचा, कुंजुम दर्रा, घेपन पीक, लेडी ऑफ केलांग, मुलकिला, नीलकंठ, मकवरे, शिकवरे में फाहे गिरे हैं। सिरमौर में अंधड़ व बारिश से फलों और सब्जियों को नुकसान पहुंचा है।