Jun 18, 2024
POLITICAL NEWS

हिप्र विस् चुनाव:-पल-पल की खबरें..टिकट न मिलने से नाराज नेताओं ने कर दी बगावत

पल-पल की खबरें..टिकट न मिलने से नाराज नेताओं ने कर दी बगावत

न्यूज़ देशआदेश

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा ने 62 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। वहीं कांग्रेस ने अभी 46 सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित किए हैं। दोनों दलों में टिकट न मिलने से नाराज नेताओं ने बगावत कर दी है। पढ़ें पल-पल के अपडेट्स…

धर्मपुर क्षेत्र में इस बार कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ने अपने बेटे रजत ठाकुर को चुनावी मैदान में उतारा है। इससे उनकी बेटी भाजपा महिला मोर्चा महामंत्री बंदना गुलेरिया प्रदेश नाराज हो गई हैं। बंदना ने अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया है।

सूत्रों के अनुसार कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के बुलावे पर बंदना गुलेरिया दिल्ली रवाना हो गई हैं। इसके साथ ही धर्मपुर भाजपा महिला मोरचा की 55 कार्यकर्ताओं ने भी इस्तीफा दे दिया है।

उधर, करसोग भाजपा में बगावत के सुर तेज हो गए हैं। विधायक समेत दो अन्य दावेदारों की टिकट को बदलने की मांग उठ गई है। कार्यकर्ताओं का आरोप है कि पैराशूट से उतारा गया उम्मीदवार मंजूर नहीं होगा। इसको लेकर देर शाम बैठक में मंथन किया गया

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा की मौजूदगी में कांग्रेस पार्टी से मंडी संसदीय क्षेत्र से लोकसभा सीट के लिए प्रत्याशी रहे दिवंगत पंडित सुखराम के पोते आश्रय शर्मा ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। आश्रय के पिता अनिल शर्मा मंडी सदर से भाजपा प्रत्याशी हैं। आश्रय ने बीते दिनों ही कांग्रेस से इस्तीफा दिया था।

कुल्लू जिले के बंजार से खीमी राम को टिकट देने पर आदित्य विक्रम सिंह कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद बुधवार शाम को भाजपा में शामिल हो गए हैं। इससे कांग्रेस को झटका लगा है। आदित्य विक्रम सिंह स्वर्गीय पूर्व मंत्री कर्ण सिंह के बेटे हैं। आदित्य बंजार से कांग्रेस टिकट नहीं मिलने से नाराज चल रहे थे और बुधवार को मंडी में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हुए। इस मौके पर प्रदेश सह प्रभारी देवेंद्र राणा, सदर विधायक अनिल शर्मा और विधायक बंजार सुरेंद्र शौरी भी मौजूद रहे।

नालागढ़ से भाजपा से टिकट न मिलने से नाराज पूर्व विधायक केएल ठाकुर ने बगावत कर दी है। केएल ठाकुर ने आजाद उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने की घोषणा की है। वे 21 अक्तूबर को नामांकन दाखिल करेंगे। अपने घर पर समर्थकों के साथ बैठक में उन्होंने यह फैसला लिया। भाजपा ने नालागढ़ से लखविंद्र राणा को प्रत्याशी घोषित किया है।

बंदना ने दिया इस्तीफा, 55 अन्य महिलाओं ने भी

धर्मपुर क्षेत्र में इस बार कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ने अपने बेटे रजत ठाकुर को चुनावी मैदान में उतारा है। इससे उनकी बेटी भाजपा महिला मोर्चा महामंत्री बंदना गुलेरिया प्रदेश नाराज हो गई हैं। बंदना ने अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया है। सुबह उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डालकर खूब बवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने पोस्ट में लिखा है कि दिल्ली से टिकट तो ले आते हैं, मगर वोट कहां से लाएंगे। वहीं, बाद में एक और पोस्ट डाली और कहा कि हर बार परिवारवाद में बेटियों की बलि क्यों दी जाती है और बाद में इन्होंने पोस्ट पर ही इस्तीफा दे दिया है। उनके साथ ही 55 अन्य महिलाओं ने भी इस्तीफा दे दिया है।

इस पोस्ट के बाद अपने ही भाई और पिता के प्रति उनकी नाराजगी जगजाहिर हुई है। उनके इस पोस्ट के बाद राजनीतिक गलियारों में कई तरह की चर्चाएं होने लगी हैं।

हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि पिता महेंद्र सिंह ठाकुर और भाई रजत ठाकुर उन्हें मनाने में जुट गए हैं। बताया जा रहा है कि बंदना गुलेरिया भी टिकट के लिए दावेदारी जता रही थीं, मगर उन्हें टिकट नहीं मिला है, जिससे वह अपने पिता और भाई से खासी नाराज हैं।

सदर चंबा से पवन नैयर का टिकट कटने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने बगावत कर दी है। कार्यकर्ताओं ने कहा कि 24 घंटे में टिकट नहीं बदला तो चंबा मंडल, नप अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, समस्त पार्षदों समेत पंचायत सामूहिक त्यागपत्र देंगे।

वर्तमान विधायक पवन नैयर के घर में पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं की बैठक के बाद शहर में सदर विधायक के पक्ष में सीट बदलने की मांग करते हुए रैली निकाली गई। शहर का चक्कर लगाने के बाद रैली मुख्य चौक पर पहुंची। जहां पर विभिन्न पदाधिकारियों ने लोगों को संबोधित कर पार्टी हाईकमान से टिकट बदलने की पैरवी की।

कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र से सुरेश भारद्वाज को भाजपा प्रत्याशी घोषित किए जाने से नाराज विजय ज्योति सेन ने बगावत कर दी है। विजय ज्योति सेन कसुम्पटी से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है।

बता दें कि विजय ज्योति सेन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह की भाभी हैं। कसुम्पटी विधानसभा सीट पर 2012 से लेकर लगातार दो बार से कांग्रेस नेता अनिरुद्ध सिंह जीत दर्ज कर रहे हैं। 2017 में विजय ज्योति सेन भाजपा उम्मीदवार थीं। अनिरुद्ध सिंह ने विजय ज्योति सेन को हराया था।

वहीं सदर बिलासपुर में भी भाजपा में बगावत शुरू हो गई है। मौजूदा विधायक सुभाष शर्मा का इस बार टिकट कट गया है। त्रिलोक जम्वाल को भाजपा प्रत्याशी घोषित किया गया है। सुभाष शर्मा ने कहा कि मेरे साथ धोखा हुआ है। उन्होंने त्रिलोक जम्वाल पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

भाजपा ने कुल्लू से महेश्वर सिंह को प्रत्याशी घोषित कर दिया है। इससे पहले आज सुबह भाजपा ने 62 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी। बड़सर, हरोली, देहरा, ज्वालामुखी, कुल्लू और रामपुर में टिकटों का पेच फंसा हुआ था। अब कुल्लू से भाजपा ने महेश्वर सिंह को प्रत्याशी घोषित कर दिया है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने महेश्वर सिंह को मंडी बुलाया है। महेश्वर सिंह मंडी के लिए रवाना हो गए हैं। बड़सर, हरोली, देहरा, ज्वालामुखी और रामपुर में अभी उम्मीदवार तय किए जाने हैं। महेश्वर सिंह का मुकाबला कांग्रेस प्रत्याशी सुंदर सिंह के साथ होगा।

शिमला विस क्षेत्र से मौजूदा विधायक और शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज के घर समर्थकों का तांता लगा है। कसुम्पटी शिफ्ट किए जाने से उनके समर्थक नाराज हो गए हैं। दोपहर डेढ़ बजे हुई बैठक में भारद्वाज का टिकट बदले जाने से निराश शिमला मंडल के पदाधिकारियों पूर्व महापौर समेत कई पार्षदों ने इस्तीफे दे दिए हैं।