Jun 17, 2024
BUSINESS

HP और UP में हो रही भूस की सप्लाई पर लगे रोक: हरियाणा डेयरी संचालक

HP और UP में हो रही भूस की सप्लाई पर लगे रोक: हरियाणा डेयरी संचालक

भूसा की सप्लाई पर प्रतिबंध लगान यूपी व हिमाचल प्रदेश के पशुपालकों के चिंता की खबर

दड़वा में चारा मंडी बनाने और सूखे चारे का औद्योगिक इस्तेमाल बंद करने की मांग की:डेयरी संचालक

न्यूज़ देशआदेश

यमुनानगर: भूस की समस्या के समाधान के लिए सोमवार को चारों डेयरी कांप्लेक्स के संचालक मेयर मदन लाल से मिले। उन्होंने यूपी व हिमाचल प्रदेश में हो रही भूस की सप्लाई पर रोक लगाने, दड़वा में चारा मंडी बनाने और सूखे चारे का औद्योगिक इस्तेमाल बंद करने की मांग की। मेयर ने एसडीएम जगाधरी सुशील कुमार को मौके पर बुलाकर डेयरी संचालकों की समस्याएं सुनी और उनका समाधान करने का आश्वासन दिया।

कैल डेयरी कांप्लेक्स के प्रधान सुरजीत सिंह, औरंगाबाद डेयरी कांप्लेक्स के प्रधान हैप्पी गिल, दड़वा डेयरी कांप्लेक्स के प्रधान संजय पाहवा और रायपुर डेयरी कांप्लेक्स के प्रधान मिलकेश फौजी ने बताया कि भूस की समस्या से निपटने के लिए प्रशासन ने जिले से भूस के निर्यात पर प्रतिबंध लगाया हुआ है, फिर भी यूपी व हिमाचल प्रदेश में भूस से भरे वाहन जा रहे हैं।

वाहन चालक पंजाब से भूस लेकर आने की बात कहते हैं, जबकि इस संबंध में अधिकतर वाहन चालकों के पास कोई दस्तावेज नहीं होता।

बावजूद इसके पुलिस द्वारा उन्हें छोड़ दिया जाता है। उन्होंने बताया कि हमने शनिवार को यूपी की तरफ जा रहे भूस से भरे 17 वाहन पकड़ कर पुलिस के हवाले किए थे, लेकिन उनके से एक भी वाहन चारा मंडी में नहीं आया। कुछ वाहनों को पंजाब से लाया भूस बताकर छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि जिले में भूस के निर्यात पर रोक लगाई गई है। लेकिन इन आदेशों का सख्ती से पालन नहीं हो रहा है।

उन्होंने मेयर मदन चौहान से मांग की कि यूपी व हिमाचल प्रदेश में हो रही भूस की सप्लाई पर रोक लगाई जाए। दड़वा में चारा मंडी बनाई जाए। क्योंकि सभी डेयरी कांप्लेक्स शहर से बाहर बने हुए हैं और शहर की सड़कों पर हरा व सूखा चारा बिकता है।

इसके अलावा औद्योगिक इकाईयों में किए गए जो सूखे चारे के इस्तेमाल पर रोक लगाई जाए, ताकि पशु पालन के लिए सूखे चारे की किल्लत न हो।

वहीं हिमाचल प्रदेश के पशुपालकों को मानें तो राज्य में सूखे चारे की विकराल समस्या पैदा हो गई। प्रदेश सरकार से दूध गंगा योजना, डेयरी फार्म योजना, गौशाला से सैकड़ों युवाओं ने बैंक लोन लेकर एक रोजगार का साधन जोड़ा था। कुछ पशुपालकों ने तो अपना सब कुछ गौशालाओं में न्यौछावर कर दिया। लेकिन अब सीजन के दौरान सूखा चारा (भूसा) की सप्लाई हरियाणा से बंद हो जाने पर डेरी फर्मों को चलाना घाटे का सौदा बनता जा रहा। कुछ डेयरी बंद भी हो चुकी है। सरकार ने पशुपालकों के लिए सूखे चारे की व्यवस्था नहीं कि तो आने वाले दिनों में प्रदेश में भी डेयरी फार्म बंद हो सकते है।