Jun 25, 2024
HIMACHAL

Decisions: हिमाचल के आठ जिलों में गंभीर मरीजों के लिए खुलेंगे क्रिटिकल केयर ब्लॉक

HP Cabinet Decisions: हिमाचल के आठ जिलों में गंभीर मरीजों के लिए खुलेंगे क्रिटिकल केयर ब्लॉक

11 अक्तूबर को हो सकती है अगली कैबिनेट बैठक

न्यूज़ देशआदेश

हिमाचल प्रदेश कैबिनेट की बैठक गुरुवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए हैं।

 

हिमाचल प्रदेश के आठ जिलों में गंभीर मरीजों के उपचार के लिए क्रिटिकल केयर ब्लॉक खोले जाएंगे। ये ब्लॉक पीएम आयुष्मान भारत आधारभूत ढांचा मिशन के तहत खोले जाएंगे। इन ब्लॉक में 50-50 बिस्तरों की क्षमता होगी। यह मंजूरी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में वीरवार को सचिवालय में हुई कैबिनेट बैठक में दी गई।

 

ये क्रिटिकल केयर ब्लॉक टांडा मेडिकल कॉलेज कांगड़ा, नेरचौक मेडिकल कॉलेज मंडी, मेडिकल कॉलेज हमीरपुर, मेडिकल कॉलेज चंबा, सुपर स्पेशलिटी अस्पताल चमियाना शिमला, क्षेत्रीय अस्पताल ऊना, क्षेत्रीय अस्पताल सोलन और नागरिक अस्पताल मनाली में खोले जाएंगे। ये आइसोलेटड ब्लॉक स्वचालित होंगे। इनमें ऑपरेशन थियेटर, आईसीयू भी होंगे। इसके अलावा इनमें गाइनी और बच्चों के उपचार की भी सुविधा होगी। इसके अलावा जोनल अस्पताल धर्मशाला, मंडी और दीन दयाल उपाध्याय क्षेत्रीय अस्पताल शिमला में तीन जिला एकीकृत सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाएं खोलने का भी निर्णय हुआ है।

एम्स : राज्य और केंद्र सरकार के बीच एमओयू के प्रारूप को मंजूरी

कैबिनेट ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) बिलासपुर के  लिए राज्य सरकार और केंद्र सरकार के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू)के प्रारूप को भी मंजूरी दी। यह एमओयू चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान के लिए शीर्ष संस्थान के रूप में कार्य करने, स्पेशलिटी एवं सुपर स्पेशलिटी स्तर की चिकित्सा सेवाओं में नोडल संस्थान के रूप में काम करने, चिकित्सकों, नर्सों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को स्नातक, स्नातकोत्तर स्तर की ट्रेनिंग के लिए प्रशिक्षण केंद्र के लिए कार्य करने, अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय स्तर के सम्मेलन करने और चिकित्सा क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए सुविधाएं देने के बारे में होगा।

11 अक्तूबर को हो सकती है अगली कैबिनेट बैठक
कैबिनेट की अगली बैठक 11 अक्तूबर को हो सकती है। बैठक में मुख्यमंत्री की बजट सहित प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में की जा रही घोषणाओं को मंजूरी दी जाएगी। इसके अलावा स्वास्थ्य संस्थानों में 160 दंत चिकित्सकों की भर्ती का फैसला भी हो सकता है।