Jun 18, 2024
HIMACHAL

Himachal: सीएम जयराम बोले- चतुर्थ श्रेणी कर्मी 60 साल में सेवानिवृत्त

Himachal: सीएम जयराम बोले- चतुर्थ श्रेणी कर्मी 60 साल में सेवानिवृत्त, 8 साल में जलरक्षक बनेंगे दैनिकभोगी

न्यूज़ देशआदेश

 

 मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि चतुर्थ श्रेणी (क्लास डी) के सभी कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति की आयु 60 साल निर्धारित करने और जलरक्षकों को आठ साल में दैनिकभोगी की श्रेणी में लाने पर सरकार विचार करेगी।

 

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने विपाशा सदन में एक शाम मंडी के कर्मचारियों के नाम कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इसमें सीएम ने कहा कि चतुर्थ श्रेणी (क्लास डी) के सभी कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति की आयु 60 साल निर्धारित करने और जलरक्षकों को आठ साल में दैनिकभोगी की श्रेणी में लाने पर सरकार विचार करेगी। अभी जलरक्षकों की अंशकालिक अवधि 12 साल निर्धारित है।  मुख्यमंत्री ने उन्होंने कहा कि एचआरटीसी परिचालकों और कर्मचारियों की समस्या का भी जल्द समाधान किया जाएगा। सीएम ने कहा कि राज्य के एक लाख से अधिक न्यू पेंशन स्कीम (एनपीएस) कर्मचारियों को लाभान्वित करने के साथ-साथ उन्हें ओल्ड पेंशन स्कीम (ओपीएस) कर्मचारियों के समान डेथ कम रिटायरमेंट ग्रेच्युटी (डीसीआरजी) का लाभ प्रदान करने के लिए एनपीएस के योगदान को 10 से बढ़ाकर 14 प्रतिशत कर दिया गया है।

ग्रेच्युटी की ऊपरी सीमा बढ़ा दी गई है। एनएचएम कर्मचारियों से संबंधित समस्या का जल्द समाधान होगा। राज्य सरकार ने कर्मचारियों के लिए हाउस, बिल्डिंग एडवांस की दरों, पात्रता और सीलिंग में संशोधन को भी मंजूरी दे दी है और हाउस बिल्डिंग एडवांस की अधिकतम सीमा अब मूल वेतन का 25 गुना होगी। सीएम ने मंडी में एनजीओ भवन के लिए 15 लाख और मंडी में कर्मचारियों के लिए सरकारी आवास की मरम्मत के लिए दो करोड़ रुपये देने की घोषणा की।

इस अवसर पर कर्मचारी कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष घनश्याम शर्मा, प्रदेश कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष अश्विनी ठाकुर, एनजीओ फेडरेशन के महासचिव राजेश शर्मा, मंडी सदर के विधायक अनिल शर्मा, बल्ह के विधायक इंद्र सिंह गांधी, द्रंग के विधायक जवाहर मौजूद रहे।

कर्मियों से सख्ती से नहीं प्यार से लेते हैं काम 
मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की सरकार के दौरान कांग्रेस नेताओं के कर्मियों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध नहीं थे। वहीं, अब एक युवा कांग्रेस नेता उन्हें कर्मचारियों को सख्त हाथ से संभालने की सलाह दे रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार विनम्रता और प्यार से ही कर्मचारियों से काम लेने में वह विश्वास रखती है।

ओपीएस के नाम पर कांग्रेस कर रही गुमराह
जयराम ने कहा कि कांग्रेस ओपीएस के नाम पर कर्मियों को गुमराह कर रही है। राज्य की पूर्व कांग्रेस सरकार ने ही ओपीएस बंद करने और एनपीएस शुरू करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए थे और अब वही नेता कर्मियों के लिए फिर से ओपीएस बहाल करने का झूठा दावा कर रहे हैं।